19 नवंबर, 2021 खण्डग्रास चंद्रग्रहण | Chandra Grahan | Moon ( Lunar Eclipse )

Chandra Grahan

Chandra Grahan

खण्डग्रास चंद्रग्रहण

19 नवंबर, 2021

कार्तिक पूर्णिमा, शुक्रवार

भारत में दृश्य ग्रहण का विस्तृत विवरण

यह ग्रहण 19 नवंबर, 2021 , शुक्रवार (कार्तिक पूर्णिमा) को सायंकाल चंद्रोदय के समय भारत के सुदूर पूर्वी राज्यों-अरुणांचल प्रदेश तथा आसाम राज्य के  केवल पूर्वी क्षेत्रों में ही स्वल्पग्रास ग्रस्तोदय के रूप में बहुत ही कम समय के लिए दिखाई देगा। शेष भारत में यह ग्रहण बिल्कुल दिखाई नहीं देगा। जिन सुदूर पूर्वी नगरों में यह ग्रहण दिखाई देगा, वहाँ चंद्रमा ग्रस्त ही उदय होगा तथा उदय के कुछ ही मिनटों के बाद ग्रहण समाप्त हो जाएगा।

भारत के अतिरिक्त यह ग्रहण अधिकतर यूरोप, एशिया(पाकिस्तान, अफगानिस्तान, ईरान तथा उत्तर- पश्चिमी भारत को छोड़कर), ऑस्ट्रेलिया, उत्तर-पश्चिमी अफ्रीका, उत्तरी तथा दक्षिणी अमरीका (कैनेडा सहित) में खण्डग्रास रूप में दृश्य होगा।

भा.स्टै.टा. (IST) अनुसार इस ग्रस्तोदय खण्डग्रास चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan) का स्पर्श तथा मोक्ष इस किस प्रकार होगा-

ग्रहण प्रारंभ 12:48 दोपहर     —- भा.स्टै.टा. (IST)
ग्रहण मध्य 2:33 दोपहर         —-भा.स्टै.टा. (IST)
ग्रहण समाप्त 4:17 सायंकाल   —-भा.स्टै.टा. (IST)

चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan)  भारत में अरुणाचल प्रदेश और आसाम के कुछ भागों में ही लगेगा। यह अधिकतर 10 मिनट तक होगा। जिन राज्यों में यह ग्रहण लगेगा वहां सूतक की पालना जरूरी है। सूतक प्रातः 3:49 भा.स्टै.टा. (IST)  से आरंभ हो जाएगा। भारत के कुछ क्षेत्रों में चंद्रोदय का समय शाम 4:07 भा.स्टै.टा. (IST)  से आरंभ होता है। चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan) का समाप्ति काल शाम 4:17 भा.स्टै.टा. (IST)  तक है। जिन क्षेत्रों में चंद्रोदय 4:17 भा.स्टै.टा. (IST)  से पहले होगा। वहाँ ग्रहण का दान, स्नान, जप-ध्यान एवं सूतक मान्य होगा।

ग्रहण का सूतक:-

भारत के दो पूर्वी राज्यों (अरुणांचल, आसाम ) के पूर्वी भागों में जहां यह अल्पकालिक ग्रस्तोदय चंद्रग्रहण (Chandra Grahan)  दिखाई देगा, केवल वही इस ग्रहण के सूतक का विचार होगा तथा यह 19 नवंबर, 2021, की प्रातः 3:49 से प्रारंभ होगा ।

ध्यान रखें, शेष भारत के सभी राज्यों/नगरों में जहाँ यह ग्रहण दिखाई नहीं देगा, वहाँ ग्रहण संबंधी दान, सूतक आदि का माहात्म्य/ विचार नहीं होगा ।

क्या ग्रहण वाले दिन व्रत- पर्वों का अनुष्ठान करना चाहिए ?

श्रावणी उपाकर्म को छोड़कर शेष व्रत- पर्वों (श्री सत्यनारायण व्रत, अमावस्या-पूर्णिमा का स्नान-दान, वटसावित्री व्रत, गुरु पूर्णिमा, रक्षाबंधन ,नवरात्रा प्रारंभ(घटस्थापन), होलिका दहन आदि) से संबंधित अनुष्ठान,पारणा आदि पर सूर्य या चंद्र ग्रहण का कोई प्रभाव नहीं पड़ता। इन पूर्णिमा-अमावस्या को घटित होने वाले व्रत- पर्वों से संबंध पूजा आदि का अनुष्ठान इनके ठीक अपने-अपने विहित निर्धारित काल में ग्रहण का सूतक और ग्रहण के समय में भी करने चाहिए- इस प्रकार के शास्त्र वाक्य मिलते हैं। यहां पर शास्त्र निर्देश है कि व्रत- पर्व से संबंधित पूजादि के अनुष्ठान/पारणा/ संकल्पकाल में ग्रहण लगा हुआ हो तो तीर्थ जल सहित स्नान करके ही पूजादि करनी चाहिए-

सर्वेषामेव वर्णनां सूतकं राहु दर्शने ।

स्नात्वा कर्माणि कुर्वीत शृतमन्नं विवर्जयेत् ।।

ग्रहण वाले दिन पड़ने वाले व्रत की पारणा (व्रत के अंत के किए जाने वाले भोजन) के संबंध में शास्त्र के अनुसार-ग्रहण के सूतक में और ग्रहण काल में पारणा नहीं करनी चाहिए l ग्रहण समाप्त होने पर ही पारणा करनी चाहिए ।

Chandra Grahan 2021 | Lunar Eclipse 2021 | Moon Eclipse 2021 

10 जून, 2021 कंकण सूर्यग्रहण | Surya Grahan | Sun (Solar Eclipse)

Solar Eclipse 10 June 2021

Solar Eclipse 10 June 2021

कंकण सूर्यग्रहण

10 जून, 2021

ज्येष्ठ अमावस, बृहस्पतिवार

भारत में दृश्य ग्रहण का विस्तृत विवरण

यह ग्रहण ज्येष्ठ  अमावस , बृहस्पतिवार (10 जून 2021 ई.) को पूर्वोत्तर भारत के केवल अरुणाचल प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में तथा अखण्ड जम्मू- कश्मीर (पाक अधिकृत एवं अक्साई चीन में) के कुछ क्षेत्रों में सूर्यास्त के समय स्वल्प ग्रास के रूप में दिखाई देगा। अत्यल्प ग्रास के कारण यह ग्रहण  सामान्यतः भारत में दृष्टि ग्राह्य नहीं होगा ।  

अरुणाचल प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में ही इस ग्रहण की खण्डा कृति सूर्यास्त से कुछ मिनट पहले ही अधिक से अधिक 17 – 18 मिनट के लिए अत्यल्प ग्रास वाली  दिखाई देगी।  

इन क्षेत्रों में इसका ग्रासमान अधिक से अधिक 3% होगा। सिद्धांत शास्त्रों में कहा गया है कि एक अंगुल अर्थात 10% से कम ग्रास वाले ग्रहण की चर्चा पंचांग आदि में नहीं करनी चाहिए –

‘ग्रासो नादेश्योऽगुंलाल्यो रवीन्द्दो: ।’

क्योंकि ऐसे ग्रहण का स्पर्श- मोक्षकाल अर्थात ग्रहण कब प्रारंभ हुआ और कब समाप्त हुआ यह- साधारण जनता के लिए जान सकना कठिन हो सकता है । अपितु इतने अल्पग्रास को नंगी आंखों/साधारण शीशे से भी देख पाना संभव नहीं है, परंतु आजकल नवीन वैज्ञानिक दूरबीन आदि यंत्रों से इसे देख पाना अत्यंत सरल है। टी.वी. आदि न्यूज़-चैनलों में कम-से-कम ग्रास को जनता को स्पष्टता से दिखा दिया जा सकता है। (टी.वी. चैनलों पर तो आजकल भारत में न दिखाई देने वाले ग्रहणो का प्रभाव/राशिफल तथा वृथा भय एवं चर्चा दिखाकर लोगों को भ्रमित किया जा सकता जा रहा है – जो कि शास्त्र मर्यादा के विरुद्ध है)

भारत के अतिरिक्त दिखाई देने वाले क्षेत्र-

यह कंकण सूर्य ग्रहण 10 जून 2021 बृहस्पतिवार को दोपहर भा.स्टै.टा. अनुसार 1:42 दोपहर से सायं 6:41  तक भूगोल पर दिखेगा। यह कंकण ग्रहण यूरोप के अधिकतर देशों (दक्षिणी- इटली, दक्षिण रोमानिया, सर्बिया, ग्रीस को छोड़कर) उत्तरी- एशिया (अधिकतर चीन, दक्षिण चीन, नेपाल को छोड़कर) उज़्बेकिस्तान, कज़ाकिस्तान आदि देशों, मंगोलिया, रूस, उत्तरी-अमेरिका (अधिकतर कैनेडा, पूर्वी अमेरिका (वांशिगटन,  Ontario आदि क्षेत्रों सहित) तथा अण्टलांटिक महासागर में दिखाई देगा ।

इस ग्रहण की कंकण – आकृति केवल कैनेडा के Nipigon, Ontaria, Quebec, Nunavut  तथा रूस के Yakutia  एवं ग्रीनलैण्ड आदि क्षेत्रों में दिखाई देगा ।

न्यूयार्क, वाशिंगटन (U.S.A), लंदन (U.K.), टोरण्टो, मांट्रियाल (कैनेडा) तथा शेष देशों में तो इसकी खंड-आकृति ही दिखाई दी जा सकेगी भारतीय-स्टैंडर्ड-टाइम अनुसार इसका समय इस प्रकार होगा –

ग्रहण प्रारंभ               1:42 दोपहर

कंकण प्रारंभ              3:20 दोपहर

ग्रहण मध्य                  4:12 दोपहर       

कंकण समाप्त            5:03  शाम

ग्रहण समाप्त              8:41 रात्रि

भारत के पूर्वी राज्य अरुणाचल प्रदेश तथा उत्तरी राज्य जम्मू- कश्मीर के भागों में यह ग्रह सूर्यास्त के समय थोड़ी देर (अधिक से अधिक 18 मिनट) के लिए अत्यल्प ग्रास के साथ दिखाई देगा।

नोट –  इसके अलावा यह भारत के किसी भी अन्य स्थान पर अर्थात शेष भारत में यह ग्रहण दिखाई नहीं देगा ।

 

ग्रहण का सूतक –

जिस क्षेत्र में यह ग्रस्तास्त सूर्य ग्रहण दिखाई देगा, केवल वहां इस ग्रहण के सूतक का विचार होगा तथा यह 10 जून की प्रातः 5:54 से प्रारंभ होगा।

Surya Grahan 2021 | Solar Eclipse 2021 | Sun Eclipse 2021

 

 

26 मई, 2021 खग्रास चंद्रग्रहण | Chandra Grahan | Moon ( Lunar Eclipse)

26 may 2021 lunar eclipse

26 may 2021 lunar eclipse

 

खग्रास चंद्रग्रहण

26 मई, 2021

वैशाख पूर्णिमा बुधवार

भारत में दृश्य ग्रहण का विस्तृत विवरण

26 मई 2021 को लगने वाला चंद्र ग्रहण (Lunar Eclipse | Moon Eclipse ) सायंकाल चंद्रोदय के समय पश्चिम – बंगाल, अरुणाचल, नागालैंड, पूर्वी उड़ीसा,  मिजोरम, मणिपुर, आसाम, त्रिपुरा तथा मेघालय में  तथा ग्रस्तोदय रूप में बहुत कम समय के लिए दिखाई देगा। इन स्थानों पर चंद्रमा  ग्रस्त ही उदित होगा और उदय के कुछ मिनटों  बाद ही ग्रहण समाप्त हो जाएगा। इन नगरों /स्थलों पर यह चंद्र ग्रहण खण्डग्रास ग्रस्तोदय  के रूप में दिखाई देगा । भारत के शेष भागों ( उत्तरी, उत्तर – पश्चिम व दक्षिण भारत) में यह ग्रहण दिखाई नहीं देगा । भारत के केवल उत्तर- पूर्वी क्षेत्रों में यह ग्रहण समाप्ति काल (मोक्ष) के समय दिखाई देगा । 

ग्रहण के प्रारम्भ आदि के काल भारतीय स्टैंडर्ड टाइम  में  इस प्रकार है –

ग्रहण प्रारंभ      :    3:15 दोपहर

खग्रास प्रारंभ    :    4:40 दोपहर

ग्रहण मध्य        :    4:49 दोपहर

खग्रास समाप्त  :    4:58 दोपहर

ग्रहण समाप्त    :    8:23 रात्रि

पर्व काल = 3 घंटे 8 मिनट

चंद्र मालिन्य शुरू = 14 घंटे 16 मिनट 

चंद्र मालिन्य समाप्त = 19 घंटे 21 मिनट  

पूर्वी भारत में स्थित बांग्ला, आसाम आदि प्रदेशों में ही यह ग्रहण सायंकाल के समय ग्रस्तोदय के रूप में बहुत कम समय के लिए दिखाई देगा और पश्चिम में स्थित किसी भी भारतीय नगर / राज्य में यह ग्रहण दिखाई नहीं देगा ,  क्योंकि वहां सर्वत्र चंद्र ग्रहण -समाप्ति (8:30 रात्रि ) के बाद ही उदय होगा । 

जिन नगरों में चंद्रोदय ग्रहण समाप्ति (8: 23 रात्रि) से पहले होगा केवल उन्हीं नगरों में यह अल्प खंडग्रास चंद्र ग्रहण दिखाई देगा । 

  

कुल मिलाकर देखा जाए तो डिगबोई आसाम में यह चंद्रग्रहण अधिकतम 29 मिनट तक रहेगा । बाकी सब स्थानों पर जहां पर भी यह चंद्र ग्रहण दिखेगा इससे कम समय ही रहेगा ।

 

भारत के अतिरिक्त दिखाई देने वाले क्षेत्र- 

 

भारत के पूर्वी प्रदेशों के अतिरिक्त यह ग्रहण दक्षिण- पूर्वी एशिया (जापान, इंडोनेशिया,  बांग्लादेश,  सिंगापुर, फिलीपींस , दक्षिण कोरिया,  बर्मा आदि) ऑस्ट्रेलिया में इसका खग्रास रूप दिखाई देगा। इसके अतिरिक्त खंड रूप में अत्यधिक उत्तरी तथा दक्षिणी अमेरिका, प्रशांत तथा हिन्द महासागर में दृश्य होगा । 

ग्रहण का पर्व काल-

जहां- ग्रहण ग्रस्तोदय हो, वहां ग्रहण का पर्व काल चंद्र के उदयकाल से ही प्रारंभ माना जाता है । 

अतएव यहां चंद्रोदय से ग्रहण समाप्ति तक का  कॉल ‘पर्व काल’ माना जाएगा  । 

विशेष ध्यान देने योग्य –  यह ग्रहण भारत के केवल पूर्वी क्षेत्रों में चंद्रोदय के समय पूर्वी क्षितिज में दिखाई देगा। अतएव  ग्रहण के स्नान, दान, जप आदि अनुष्ठान का माहात्म्य  भी उन्हीं  स्थानों पर होगा । 

क्योंकि यह ग्रहण भारत के उत्तर,  पश्चिम एवं एशिया भागो ,जैसे- महाराष्ट्र, पंजाब, जम्मू- कश्मीर, राजस्थान, उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश,  बिहार आदि प्रदेशों में दिखाई नहीं देगा,  अतएव   इन प्रदेशों का ग्रहण कालिक स्नान-दान, जप –  तप आदि अनुष्ठान,  पुण्य आदि एवं विवाह आदि शुभ कार्यों में निषेध विचारणीय नहीं है। 

चंद्र ग्रहण का सूतक-

इस ग्रहण का सूतक 26 मई, 2021 के प्रातः 6:15 (भारतीय स्टैंडर्ड टाइम) से प्रारंभ हो जाएगा ।  पुन: ध्यान रखें,  भारत के पूर्वीय प्रदेशों में जहां-जहां चंद्रग्रहण दृश्य होगा, वहां पर ही ग्रहण के सूतक आदि का विचार होगा, अन्यत्र नहीं। 

सूतक एवं ग्रहण काल में ईश्वर एवं  अपने इष्ट देव का पूजन, जप- पाठ,  तर्पण, हवन आदि कार्यों का सम्पादन तथा ग्रहणोपरान्त स्नान दान आदि करना शुभ एवं कल्याणकारी होता है । 

ग्रहण का राशि फल-   

यह ग्रहण अनुराधा / ज्येष्ठा नक्षत्र  तथा वृश्चिक राशि में घटित हो रहा है। 

अतएव वृश्चिक राशि वालों को इस चंद्र ग्रहण का फल अशुभ रहेगा । सभी राशियों के लिए इस चंद्रग्रहण का फल इस प्रकार है । 

 

राशि

फल

मेष

सुख प्राप्ति

वृष

स्त्री कष्ट

मिथुन

रोग भय

कर्क

मानहानि

सिंह

कार्य सिद्धि

कन्या

धन लाभ

तुला

धन हानि

वृश्चिक

शारीरिक कष्ट, चिंता

धनु

धन हानि

मकर

धन लाभ

कुंभ

चोट भय

मीन

चिंता, संतान कष्ट 

 

ग्रहण का अन्य फल-

इस ग्रस्तोदय चंद्र ग्रहण का विशेष प्रभाव भारत के पूर्वी प्रदेशों ( बंगाल, असम,  अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड, त्रिपुरा, पूर्वी उड़ीसा) , बांग्लादेश,  बर्मा, सिंगापुर, ऑस्ट्रेलिया, आदि देशों पर विशेष रूप से अधिक होगा  । 

यह ग्रहण वृश्चिक राशि वाले देशों (ब्राजील,बर्मा, अल्जीरिया) के राष्ट्र नेताओं के लिए कठिन हालात पैदा करेगा । 

वैशाख पूर्णिमा के दिन यह ग्रहण होने से बिहार, उड़ीसा बंगाल या पूर्वी प्रदेशों के किसी विशिष्ट राजनेता के लिए घातक होगा  । 

वैशाखमसे ग्रहणे विनाशमायांति कार्पासतिला : समुद्गा:।

इक्ष्वाकुयौधेयशका : कलिंगा:  सोपद्रवा: किंतु  सुभिक्षमस्मिन्।।

वैशाख में ग्रस्तोदय होने से विभिन्न देशों के मध्य युद्ध, प्रजा में रोग-भय  तथा ब्राह्मणों में भी भय व्याप्त हो । शराब पीने वालों को कष्ट, वर्षा में कमी, कृषि- नाश के कारण तिल तेल, रूई ,मूंग आदि के मूल्यों में विशेष तेजी हो, परंतु विश्व में सुभिक्ष अर्थात अन्न का यथेष्ठ उत्पादन हो ।  पूर्वी एशियाई देशों में विशेष उपद्रव होगा । 

Chandra Grahan 2021 | Lunar Eclipse 2021 | Moon Eclipse 2021 

चंद्र ग्रहण | Moon Eclipse | Chandra Grahan aur Beej Mantra
सोने / लोहे के पड़ावे में जन्म ? Chandra Grahan | Moon Eclipse
जानिए क्या है उत्पीडन दोष ? Chandra Grahan | Moon Eclipse
Chandra Grahan | चंद्र ग्रहण में सर्व कामण टूमण नाशक उपाय
Chandra Grahan | चंद्र ग्रहण पर सिद्ध करें - बुद्धि वर्धक मंत्र
लॉटरी, रेस, शेयर, सट्टे में लाभ | Mantra for Lottery, Share Market

21 June Surya Grahan | Solar Eclipse | Covid-19 का विश्व पर क्या होगा प्रभाव ?

Solar eclipse Covid 19

Solar eclipse Covid 19

ओम नमः शिवाय,

सज्जनों,

आज के इस एपिसोड में हम जानेंगे कि 21 जून 2020 रविवार, आषाढ़ अमावस्या को सूर्य ग्रहण (Surya Grahan | Solar Eclipse) आ रहा है। इस ग्रहण का आरंभ सुबह 10:19 से है तथा मध्य काल दोपहर 12:01 पर और ग्रहण का समाप्ति काल दोपहर 1:48 पर होगा।

सज्जनों यह सूर्यग्रहण (Surya Grahan | Solar Eclipse) कुल मिलाकर 3 घंटे लगभग 29 मिनट तक रहेगा। ग्रहण का सूतक 1 दिन पहले अर्थात 21 जून को रात्रि 10:00 बजे आरंभ हो जाएगा।

यह सूर्य ग्रहण (Surya Grahan | Solar Eclipse) मृगशिरा नक्षत्र में प्रारंभ होकर आद्रा नक्षत्र तथा मिथुन राशि में घटित होगा। इस कारण से यह मृगशिरा व आद्रा नक्षत्र तथा मिथुन राशि या मिथुन लग्न में उत्पन्न हुए जातकों के लिए विशेष तौर पर अशुभ फलप्रद रहेगा।

इस ग्रहण का समाज के ऊपर किस किस प्रकार का शुभ अथवा अशुभ असर पड़ेगा। इस ग्रहण दोष के निवारण के लिए कौन-कौन से उपाय करने श्रेष्ठ रहेंगे। आइए जानते हैं इसके बारे में।

 

other keywords:

Effect of Surya grahan on covid 19 , Solar Eclipse timing, Surya grahan timing update,  

कुंडली में संपातक दोष | ग्रहण दोष के लक्षण और उपाय | Solar Eclipse

ओम नमः शिवाय,

सज्जनों,

ग्रहण दोष अथवा संपातक दोष क्या होता है ? इस दोष के क्या लक्षण है और इस दोष का उपाय कब करना चाहिए ? इस दोष के कारण से व्यक्ति के जीवन में क्या-क्या प्रभाव आते हैं ? आइए जानते हैं आज के एपिसोड में।

प्रतिदिन ज्योतिष से संबंधित
नया वीडियो पाने के लिये हमारा यूट्यूब चैनल https://www.youtube.com/c/ASTRODISHA सबस्‍क्राइब करें। इसके अलावा यदि आप हमारी संस्था के
सेवा कार्यों तथा प्रोडक्ट्स से संबंधित अधिक जानकारी
प्राप्‍त करना चाहते हैं तो आप हमारी बेवसाइट https://www.astrodisha.com/ पर जा सकते हैं और अगर आपको कुछ पूछना है तो आप हमें help@astrodisha.com पर मेल कर सकते है।

Contact – +91-7838813444, +91-7838813555,

                 +91-7838813666,
+91-7838813777

Whats app – +91-7838813444

Email – help@astrodisha.com

Website –  https://www.astrodisha.com

Facebook – https://www.facebook.com/AstroDishaPtSunilVats/

Sampatak dosh kya hai, What is Sampatak dosh, Surya grahan dosh in kundali, grahan dosh in kundali, Sampatak dosh ke upay, Sampatak Dosh ka karan, Sampatak dosh ke liye kya kren , Sampatak Dosh surya grehan dosh

26 Dec Surya Grahan | Solar Eclipse | सूर्य ग्रहण ‘षडग्रही योग’

26 December Surya Grahan | Solar Eclipse | सूर्य ग्रहण पर बन रहा है ‘षडग्रही योग’ ओम नमः शिवाय, सज्जनों, आज के इस एपिसोड में हम जानेंगे कि 26 दिसंबर 2019 को सूर्य ग्रहण (Surya Grahan | Solar Eclipse) आ रहा है। इस ग्रहण का आरंभ सुबह 8:16 से है तथा मध्य काल 9:30 पर और ग्रहण का समाप्ति काल 10:57 पर होगा। सज्जनों यह सूर्यग्रहण (Surya Grahan | Solar Eclipse) कुल मिलाकर 2 घंटे लगभग 28 मिनट तक रहेगा। ग्रहण का सूतक 1 दिन पहले अर्थात 25 दिसंबर को रात्रि 8:00 बजे आरंभ हो जाएगा। यह सूर्य ग्रहण (Surya Grahan | Solar Eclipse) मूल नक्षत्र तथा धनु राशि में घटित होगा। इस कारण से यह मूल नक्षत्र में जन्मे हुए जातकों व धनु राशि या धनु लग्न में उत्पन्न हुए जातकों के लिए विशेष तौर पर अशुभ फलप्रद रहेगा। इस ग्रहण का समाज के ऊपर किस किस प्रकार का शुभ अथवा अशुभ असर पड़ेगा। इस ग्रहण दोष के निवारण के लिए कौन-कौन से उपाय करने श्रेष्ठ रहेंगे। आइए जानते हैं इसके बारे में।

प्रतिदिन ज्योतिष से संबंधित नया वीडियो पाने के लिये हमारा यूट्यूब चैनल https://www.youtube.com/c/ASTRODISHA सबस्‍क्राइब करें। इसके अलावा यदि आप हमारी संस्था के सेवा कार्यों तथा प्रोडक्ट्स से संबंधित अधिक जानकारी प्राप्‍त करना चाहते हैं तो आप हमारी बेवसाइट https://www.astrodisha.com/ पर जा सकते हैं और अगर आपको कुछ पूछना है तो आप हमें help@astrodisha.com पर मेल कर सकते है। Contact – +91-7838813444, +91-7838813555, +91-7838813666, +91-7838813777 Whats app – +91-7838813444 Email – help@astrodisha.com Website – https://www.astrodisha.com Facebook – https://www.facebook.com/AstroDishaPt…

चंद्र ग्रहण | Moon Eclipse | Chandra Grahan aur Beej Mantra

Moon Eclipse, chandra grahan

चंद्र ग्रहण (Chandra Grahan | Moon Eclipse) काल में करें बीज मन्त्रों से असाध्य रोगों का उपचार

प्रतिदिन ज्योतिष से संबंधित नया वीडियो पाने के लिये हमारा यूट्यूब चैनल https://www.youtube.com/c/ASTRODISHAसबस्क्रा इब करें। इसके अलावा यदिआप हमारी संस्था के सेवा कार्यों तथा प्रोडक्ट्ससे संबंधित अधिक जानकारी प्राप्ता करना चाहते हैं तो आप हमारी बेवसाइट https://www.astrodisha.com/ पर जा सकते हैं और अगर आपको कुछ पूछना है तो आप हमें help@astrodisha.comपर मेल कर सकते है।
Contact – +91-7838813444, +91-7838813555,
+91-7838813666, +91-7838813777
Whats app – +91-7838813444
Email – help@astrodisha.com
Website – https://www.astrodisha.com
Facebook – https://www.facebook.com/AstroDishaPtSunilVats/

Moon eclipse , Chandra Grahan Timing, Moon Eclipse importance, Mantra for chandra grahan, Beej Mantra aur Chandra Grahan | Moon Eclipse | चंद्र ग्रहण ke samay kis beej mantra se kis rog ka upchaar kiya ja sakta hai

सोने / लोहे के पड़ावे में जन्म ? Chandra Grahan | Moon Eclipse

Chandra grahan upay

क्या आपका जन्म भी हुआ है सोने अथवा लोहे के पड़ावे में

चंद्र ग्रहण में करें यह एक सरल उपाय :
हटेगा दोष व भार ;
मिलेगी सुख व समृद्धि ;
होगा रोग – शोक का नाश |

ओम नमः शिवाय,
सज्जनों,
प्रतिदिनज्योतिष से संबंधित नया वीडियो पाने के लिये हमारा यूट्यूब चैनलhttps://www.youtube.com/c/ASTRODISHAसबस्क्रा इब करें। इसके अलावा यदिआप हमारी संस्था के सेवा कार्यों तथा प्रोडक्ट्ससे संबंधित अधिक जानकारी प्राप्ता करना चाहते हैं तो आप हमारी बेवसाइट https://www.astrodisha.com/ पर जा सकते हैं और अगर आपको कुछ पूछना है तो आप हमें help@astrodisha.comपर मेल कर सकते है।
Contact – +91-7838813444, +91-7838813555,
+91-7838813666, +91-7838813777
Whats app – +91-7838813444
Email – help@astrodisha.com
Website – https://www.astrodisha.com
Facebook – https://www.facebook.com/AstroDishaPtSunilVats/

Chandra grahan upay, Remedy moon eclipse, Astrologcal upay chandra grahan, Jyotish Upay grhan kaal, Remedial solution for chandra grahan

जानिए क्या है उत्पीडन दोष ? Chandra Grahan | Moon Eclipse

Chandra Grahan Dosha

ओम नमः शिवाय,
सज्जनों,

क्या आपकी कुंडली में भी है चंद्र ग्रहण (उत्पीड़न / Utpeedan) दोष ???

जानिए क्या होता है चंद्र ग्रहण अथवा उत्पीड़न दोष | इस चंद्रग्रहण पर करें यह एक उपाय समाप्त होंगी उत्पीड़न दोष सम्बन्धी सभी समस्याएं |

प्रतिदिनज्योतिष से संबंधित नया वीडियो पाने के लिये हमारा यूट्यूब चैनल https://www.youtube.com/c/ASTRODISHA सबस्क्राइब करें। इसके अलावा यदिआप हमारी संस्था के सेवा कार्यों तथा प्रोडक्ट्ससे संबंधित अधिक जानकारी प्राप्ता करना चाहते हैं तो आप हमारी बेवसाइट https://www.astrodisha.com/ पर जा सकते हैं और अगर आपको कुछ पूछना है तो आप हमें help@astrodisha.com पर मेल कर सकते है।
Contact – +91-7838813444, +91-7838813555,
+91-7838813666, +91-7838813777
Whats app – +91-7838813444
Email – help@astrodisha.com
Website – https://www.astrodisha.com
Facebook – https://www.facebook.com/AstroDishaPtSunilVats/

Utpeedan Dosha kya hai, What is Utpeedan Dosha, Chandra Grahan dosha in kundli, Grahan dosha in kundli, Chandra Grahan Dosha upay | Remedy for Chandra grahan dosha

Chandra Grahan | चंद्र ग्रहण में सर्व कामण टूमण नाशक उपाय

Chandra grahan Upay

ॐ नम: शिवाय,

कामण टूमण नाशक मन्त्र से ब्लैक मैजिक का सटीक उपाय | रावण संहिता में ऐसे बहुत से उपाय बताये गये हैं जिन्हें आप ग्रहन के सुअवसर पर करें तो जीवन में आये संकटों का नाश हो सकता है | आइये देखिये ये विडियो और जानिए ये सब कैसे करें …

प्रतिदिन ज्योतिष से संबंधित नया वीडियो पाने के लिये हमारा यूट्यूब चैनल https://www.youtube.com/c/ASTRODISHA सबस्‍क्राइब करें। इसके अलावा यदि आप हमारी संस्था के सेवा कार्यों तथा प्रोडक्ट्स से संबंधित अधिक जानकारी प्राप्‍त करना चाहते हैं तो आप हमारी बेवसाइट https://www.astrodisha.com/ पर जा सकते हैं और अगर आपको कुछ पूछना है तो आप हमें help@astrodisha.com पर मेल कर सकते है।

Contact – +91-7838813444, +91-7838813555, +91-7838813666, +91-7838813777

Whats app – +91-7838813444

Email – help@astrodisha.com

Website – https://www.astrodisha.com

Moon Eclipse | Chandra Grahan Rawan Samhita upay,Sarv Kaman tuman upay,Chandra Grahan remedy,Chandra grahan upay | Sarv Kaamn Tooman Upay