कुंडली में संपातक दोष | ग्रहण दोष के लक्षण और उपाय | Solar Eclipse

ओम नमः शिवाय,

सज्जनों,

ग्रहण दोष अथवा संपातक दोष क्या होता है ? इस दोष के क्या लक्षण है और इस दोष का उपाय कब करना चाहिए ? इस दोष के कारण से व्यक्ति के जीवन में क्या-क्या प्रभाव आते हैं ? आइए जानते हैं आज के एपिसोड में।

प्रतिदिन ज्योतिष से संबंधित नया वीडियो पाने के लिये हमारा यूट्यूब चैनल https://www.youtube.com/c/ASTRODISHA सबस्‍क्राइब करें। इसके अलावा यदि आप हमारी संस्था के सेवा कार्यों तथा प्रोडक्ट्स से संबंधित अधिक जानकारी प्राप्‍त करना चाहते हैं तो आप हमारी बेवसाइट https://www.astrodisha.com/ पर जा सकते हैं और अगर आपको कुछ पूछना है तो आप हमें help@astrodisha.com पर मेल कर सकते है।

Contact – +91-7838813444, +91-7838813555,

                 +91-7838813666, +91-7838813777

Whats app – +91-7838813444

Email – help@astrodisha.com

Website –  https://www.astrodisha.com

Facebook – https://www.facebook.com/AstroDishaPtSunilVats/

Sampatak dosh kya hai, What is Sampatak dosh, Surya grahan dosh in kundali, grahan dosh in kundali, Sampatak dosh ke upay, Sampatak Dosh ka karan, Sampatak dosh ke liye kya kren , Sampatak Dosh surya grehan dosh

Surya Grahan Dosha| संपातक दोष उपाय मुहूर्त (सन् 2023-2024)

grahan dosha upay

grahan dosha upay

ओम नमः शिवाय,
आप सभी का शिव साधक परिवार में स्वागत है। सज्जनों आप में से जिन जिन लोगों ने हमारे कार्यालय से वैदिक रावण संहिता का निर्माण करवाया है और उनकी कुंडली में संपातक दोष बताया गया है। उस संपातक दोष का उपाय हालांकि कुंडली के अंदर दिया गया है परंतु यह उपाय सिर्फ सूर्यग्रहण के मध्यकाल में ही करना होता है। जैसा कि आप सभी जानते हैं कि यह दोष बहुत प्रबल होता है और यह कभी भी कटता नहीं है परंतु प्रत्येक सूर्यग्रहण के मध्यकाल में उपाय करने से यह दोष कुछ समय के लिए दब जाता है इसीलिए इस दोष का उपाय आजीवन प्रत्येक सूर्यग्रहण के मध्यकाल में करना होता है। यदि किसी कारणवश किसी सज्जन का यह उपाय सूर्य ग्रहण के दिन करना छूट गया हो या अभी सूर्य ग्रहण आने में काफी समय बाकी बचा हुआ हो अथवा संपातक दोष का जो अशुभ फल आपकी कुंडली में लिखा है, वह बहुत ज्यादा आपके ऊपर हावी हो रहा हो तो उस बुरे प्रभाव को दबाने के लिए यहाँ कुछ विशेष मुहूर्त यहां दिए जा रहे हैं। आप इन दिए गए मुहूर्तों में भी संपातक दोष का उपाय कर सकते हैं। यह मुहूर्त भी सूर्य ग्रहण जितना प्रभाव रखने की क्षमता रखते हैं।

संपातक दोष उपाय मुहूर्त (सन् 2023-2024)

तारीख प्रारंभ काल – तारीखप्रारंभ काल – घं.मि.तारीख – समाप्ति कालसमाप्ति काल – घं.मि.
20 अप्रैलप्रातः 07:20 से20 अप्रैलरात्रि 08:08 तक
21 मईप्रातः 06:16 से21 मईरात्रि 07:04 तक
21 जूनदोपहर  02:04 से22 जूनरात्रि 02:52 तक
23 जुलाईरात्रि 00:57 से23 जुलाईदोपहर 01:45 तक
23 अगस्तप्रातः 08:0823 अगस्तरात्रि 08:56 तक
23 सितम्बरप्रातः 05:56 से23 सितम्बररात्रि 06:44 तक
23 अक्टूबरदोपहर 03:27 से24 अक्टूबरप्रातः 04:15 तक
22 नवम्बरदोपहर 01:09 से23 नवम्बररात्रि 01:57 तक
22 दिसम्बररात्रि 02:34 से22 दिसम्बरदोपहर 03:22 तक

संपातक दोष उपाय मुहूर्त (सन् 2024)

तारीख प्रारंभ काल – तारीखप्रारंभ काल – घं.मि.तारीख – समाप्ति कालसमाप्ति काल – घं.मि.
20 जनवरी दोपहर 01:14 से21 जनवरी रात्रि 02:02 तक
19 फरवरीरात्रि 03:19 से19 फरवरीशाम 04:07 तक
20 मार्चरात्रि 02:13 से20 मार्चदोपहर 03:01 तक

Surya grahan dosha | Sampatak dosha ke upay krne ke liye muhurat

•••••••••••••••••

Sampatak Dosh Upay / संपातक दोष उपाय के बारे में यह artical यदि आपको पसंद आया हो, तो इसे like और दूसरों को share करें, ताकि यह जानकारी और लोगों तक भी पहुंच सके। आप Comment box में Comment जरुर करें। इस subject से जुड़े प्रश्न आप नीचे Comment section में पूछ सकते हैं।