Dwipushkar yog shubh muhurat | द्विपुष्कर योग (सन् 2021-22)

shubh muhurat pushkar yog

shubh muhurat pushkar yog

‘द्विपुष्कर योग’ जैसे कि नाम से ही पता चलता है कि दोगुना। ‘जी हां’  द्विपुष्कर योग में यदि किसी व्यक्ति को लाभ होता है तो है दोगुना होता है और यदि किसी कारणवश हानि हो जाती है तो वह भी 2 गुना ही होती है। अतः जितने भी हमारे शास्त्रों में अच्छे मुहूर्त और योग बताए गए हैं उनको दोगुना करने वाला योग द्विपुष्कर योग कहलाता है। इस युग में शुभ काम करने पर यह दोगुना लाभ प्रदान करता है।                                  

द्विपुष्कर योग सन 2021 – 2022

 

प्रारंभ काल – तारीखप्रारंभ काल – घं.मि.तारीख – समाप्ति कालसमाप्ति काल – घं.मि.
23 मईदोपहर 12:1324 मईरात्रि 03:39
01 जूनसूर्योदय से01 जूनशाम 4:07
25 जुलाईप्रातः 11:1826 जुलाईप्रातः 04:04
18 सितंबरसूर्योदय से18 सितंबरप्रातः 06:54 
28 सितंबर सूर्योदय से28 सितंबरशाम 6:17
21 नवंबरप्रातः 07:3621 नवंबरशाम 7:47
01 दिसंबररात्रि 2:1501 दिसंबरसूर्योदय तक
2022
प्रारंभ काल – तारीखप्रारंभ काल – घं.मि.तारीख – समाप्ति कालसमाप्ति काल – घं.मि.
25 जनवरीसूर्योदय से25 जनवरीप्रातः 07:49
19 मार्चरात्रि 11:3820 मार्चप्रातः 10:07
29 मार्चसूर्योदय से29 मार्चप्रातः 11:28

 

•••••••••••••••••
Dvipushkar Yoga / द्विपुष्कर योग के बारे में यह artical यदि आपको पसंद आया हो, तो इसे like और दूसरों को share करें, ताकि यह जानकारी और लोगों तक भी पहुंच सके। आप Comment box में Comment जरुर करें। इस subject से जुड़े प्रश्न आप नीचे Comment section में पूछ सकते हैं।

Tripushkar Yog | त्रिपुष्कर योग (सन् 2021-22)

shubh muhurat teen guna labh dene wala yog

shubh muhurat teen guna labh dene wala yog

‘त्रिपुष्कर योग’ जैसे कि नाम से ही पता चलता है कि तिगुना। ‘जी हां’  त्रिपुष्कर योग में यदि किसी व्यक्ति को लाभ होता है तो है तिगुना होता है और यदि किसी कारणवश हानि हो जाती है तो वह भी 3 गुना ही होती है। अतः जितने भी हमारे शास्त्रों में अच्छे मुहूर्त और योग बताए गए हैं उनको दोगुना करने वाला योग त्रिपुष्कर योग कहलाता है। इस युग में शुभ काम करने पर यह तिगुना लाभ प्रदान करता है।                                         

त्रिपुष्कर योग सन 2021 – 2022

 

प्रारंभ काल – तारीखप्रारंभ काल – घं.मि.तारीख – समाप्ति कालसमाप्ति काल – घं.मि.
19 अप्रैलप्रातः 05:0219 अप्रैलसूर्योदय तक
24 अप्रैलप्रातः 06:2324 अप्रैलशाम 7:17
28 अप्रैलप्रातः 05:1628 अप्रैलसूर्योदय तक
02 मईदोपहर 2:5103 मईसूर्योदय तक
12 जूनशाम 4:5812 जूनरात्रि 8:18
22 जूनसूर्योदय से22 जूनप्रातः 10:22
26 जूनसूर्योदय से26 जूनशाम 6:11
06 जुलाईसूर्योदय से06  जुलाईदोपहर 3:20
15 अगस्तप्रातः 05:5415 अगस्तप्रातः 09:51
24 अगस्तसूर्योदय से24 अगस्तशाम 4:05
29 अगस्तप्रातः 03:3529 अगस्तरात्रि 11:25
08 सितंबरप्रातः 04:3808 सितंबरसूर्योदय तक
17 अक्टूबरप्रातः 09:5317 अक्टूबरशाम 5:39
02 नवंबरसूर्योदय से02 नवंबरप्रातः 11:31
21 दिसंबरसूर्योदय से21 दिसंबरदोपहर 2:54
26 दिसंबरप्रातः 05:0626 दिसंबररात्रि 8:08
2022
प्रारंभ काल – तारीखप्रारंभ काल – घं.मि.तारीख – समाप्ति कालसमाप्ति काल – घं.मि.
04 जनवरीसूर्योदय से04 जनवरीप्रातः 10:56
13 फरवरीप्रातः 09:2813 फरवरीशाम 6:42
22 फरवरीशाम 6:3623 फरवरीसूर्योदय तक
27 फरवरीप्रातः 08:4928 फरवरीप्रातः 05:43
09 मार्चरात्रि 00:3209 मार्चसूर्योदय तक

•••••••••••••••••

Tripushkar Yoga / त्रिपुष्कर योग के बारे में यह artical यदि आपको पसंद आया हो, तो इसे like और दूसरों को share करें, ताकि यह जानकारी और लोगों तक भी पहुंच सके। आप Comment box में Comment जरुर करें। इस subject से जुड़े प्रश्न आप नीचे Comment section में पूछ सकते हैं।

Amrit Siddhi Muhurat | अमृत सिद्धि योग (सन् 2021-22)

auspicious muhurat yoga

auspicious muhurat yoga

शास्त्रों में “अमृत सिद्धि योग” को अमृत के समान फल देने वाला कहा गया है। ध्यान रहे मंगलवार वाले अमृत सिद्धि योग के समय नए घर में प्रवेश करना तथा शनिवार वाले अमृत सिद्धि योग के समय यात्रा नहीं करनी चाहिए। बाकी सभी कामों के लिए निसंकोच आप इन्हें प्रयोग में ला सकते हैं।

अमृत सिद्धि योग सन 2021 – 22

 

प्रारंभ काल – तारीखप्रारंभ काल – घं.मि.तारीख – समाप्ति कालसमाप्ति काल – घं.मि.
13 अप्रैलसूर्योदय से13 अप्रैलदोपहर 2:19
25 अप्रैलसूर्योदय से26 अप्रैलरात्रि 01:54
28 अप्रैलशाम 5:1329 अप्रैलसूर्योदय तक
23 मईसूर्योदय से23 मईदोपहर 12:12
26 मईसूर्योदय से27 मईरात्रि 01:15
05 जूनप्रातः 04:0905 जूनसूर्योदय तक
23 जूनसूर्योदय से23 जूनप्रातः 11:48
02 जुलाईसूर्योदय से03 जुलाईसूर्योदय तक
30 जुलाईसूर्योदय से30 जुलाईदोपहर 2:02
27 सितंबरशाम 5:4228 सितंबरसूर्योदय तक
01 अक्टूबररात्रि 01:3401 अक्टूबरसूर्योदय तक
23 अक्टूबररात्रि 9:5324 अक्टूबरसूर्योदय तक
25 अक्टूबरसूर्योदय से26 अक्टूबरप्रातः 04:10
28 अक्टूबरप्रातः 09:4229 अक्टूबरसूर्योदय तक
16 नवंबररात्रि 8:1517 नवंबरसूर्योदय तक
20 नवंबरसूर्योदय से21 नवंबरसूर्योदय तक
22 नवंबरसूर्योदय से22 नवंबरप्रातः 10:43
25 नवंबरसूर्योदय से25 नवंबरशाम 6:49
14 दिसंबरसूर्योदय से15 दिसंबरप्रातः 04:40
18 दिसंबरसूर्योदय से18 दिसंबरदोपहर 1:48
27 दिसंबरप्रातः 05:2627 दिसंबरसूर्योदय तक
2022
प्रारंभ काल – तारीखप्रारंभ काल – घं.मि.तारीख – समाप्ति कालसमाप्ति काल – घं.मि.
11 जनवरीसूर्योदय से11 जनवरीप्रातः 11:09
23 जनवरीप्रातः 11:1024 जनवरीसूर्योदय तक
20 फरवरीसूर्योदय से20 फरवरीशाम 4:42
23 फरवरीदोपहर 2:4123 फरवरीशाम 4:57
05 मार्चरात्रि 1:5205 मार्चसूर्योदय तक
23 मार्चसूर्योदय से23 मार्चशाम 6:52
01 अप्रैलप्रातः 10:4002 अप्रैलसूर्योदय तक

•••••••••••••••••

shubh muhurat, aaj ka choghadiya, shubh muhurat today, aaj ka shubh muhurat,

Amrit Siddhi Yoga / अमृत सिद्धि योग के बारे में यह artical यदि आपको पसंद आया हो, तो इसे like और दूसरों को share करें, ताकि यह जानकारी और लोगों तक भी पहुंच सके। आप Comment box में Comment जरुर करें। इस subject से जुड़े प्रश्न आप नीचे Comment section में पूछ सकते हैं।

Ravi Yog (Shubh Muhurat) | रवि योग (सन् 2021-22)

Shubh muhurat

Shubh muhurat

रवि योग भी सर्वार्थसिद्धि योग की तरह सभी कार्यों के लिए शुभ (Shubh Muhurat) माने जाते हैं। रवि योग सभी बुरे अशुभ योगों को नष्ट करने की अद्भुत शक्ति रखता है। :- “कुयोग विध्वंस कराः शुभेषु’

 

रवि योग सन् 2021 – 2022

 

प्रारंभ काल – तारीखप्रारंभ काल – घं.मि.तारीख – समाप्ति कालसमाप्ति काल – घं.मि.
15 अप्रैलरात्रि 8:33 16 अप्रैलरात्रि 11:39 
18 अप्रैलरात्रि 02:3419 अप्रैलप्रातः 05:01
21 अप्रैलप्रातः 07:5923 अप्रैलप्रातः 07:41
25 अप्रैलप्रातः 04:2426 अप्रैलरात्रि 01:54
02 मईप्रातः 9:0003 मईप्रातः 08:22
15 मईप्रातः 08:3916 मईप्रातः 11:13
17 मईदोपहर 1:2218 मईदोपहर 2:55
20 मईदोपहर 3:5822 मईदोपहर 2:05
24 मईप्रातः 09:5025 मईप्रातः 07:05
25 मईप्रातः 08:4626 मईप्रातः 04:11
31 मईशाम 4:0201 जूनशाम 4:07
13 जूनशाम 7:0114 जूनरात्रि 8:36
15 जूनरात्रि 9:43 16 जूनरात्रि 10:14
18 जूनरात्रि 9:3820 जूनशाम 6:49
23 जूनप्रातः 11:4924 जूनप्रातः 09:10
30 जूनरात्रि 01:0201 जुलाईरात्रि 02:03
13 जुलाईरात्रि 3:1514 जुलाईरात्रि 03:40
15 जुलाईरात्रि 3:4316 जुलाईरात्रि 03:21
18 जुलाईरात्रि 01:3320 जुलाईरात्रि 8:32
22 जुलाईशाम 4:2623 जुलाईदोपहर 2:25
29 जुलाईदोपहर 12:3023 जुलाईदोपहर 2:02
11 अगस्तप्रातः 9:3212 अगस्तप्रातः 08:52
13 अगस्तप्रातः 08:0014 अगस्तप्रातः 06:56
16 अगस्तप्रातः 04:2617 अगस्तरात्रि 1:16
17 अगस्तरात्रि 03:0319 अगस्तरात्रि 00:07
20 अगस्तरात्रि 9:2521 अगस्तरात्रि 8:21
28 अगस्तरात्रि 12:4829 अगस्तरात्रि 3:34
09 सितंबरदोपहर 2:3110 सितंबरदोपहर 12:57
11 सितंबरप्रातः 11:2312 सितंबरप्रातः 09:50
15 सितंबरप्रातः 05:5617 सितंबरप्रातः 04:08
19 सितंबरप्रातः 03:2220 सितंबरप्रातः 03:28
26 सितंबरदोपहर 2:3327 सितंबरप्रातः 06:41
27 सितंबरशाम 5:4228 सितंबररात्रि 8:44
08 अक्टूबरशाम 7:0009 अक्टूबरशाम 4:47
10 अक्टूबरदोपहर 2:4510 अक्टूबरशाम 7:37
11 अक्टूबरदोपहर 12:5612 अक्टूबरप्रातः 11:26
14 अक्टूबरप्रातः 09:3616 अक्टूबरप्रातः 09:21
18 अक्टूबरप्रातः 10:5019 अक्टूबरदोपहर 12:12
27 अक्टूबरप्रातः 07:0928 अक्टूबरप्रातः 09:41
07 नवंबररात्रि 9:0508 नवंबरशाम 6:49
09 नवंबरशाम 5:0010 नवंबरदोपहर 3:41
12 नवंबरदोपहर 2:5414 नवंबरशाम 4:31
16 नवंबररात्रि 8:1517 नवंबररात्रि 10:42
25 नवंबरशाम 6:5026 नवंबररात्रि 8:36
07 दिसंबररात्रि 2:2008 दिसंबररात्रि 00:11
08 दिसंबररात्रि 10:4009 दिसंबररात्रि 9:50
11 दिसंबररात्रि 10:3214 दिसंबररात्रि 02:04
17 दिसंबरप्रातः 10:4118 दिसंबरदोपहर 1:48
25 दिसंबरप्रातः 04:1026 दिसंबरप्रातः 05:05
 
2022
 
प्रारंभ काल – तारीखप्रारंभ काल – घं.मि.तारीख – समाप्ति कालसमाप्ति काल – घं.मि.
05 जनवरीप्रातः 08:4706 जनवरीप्रातः 07:11
07 जनवरीप्रातः 06:2108 जनवरीप्रातः 06:19
10 जनवरीप्रातः 08:5011 जनवरीप्रातः 07:56
11 जनवरीप्रातः 11:1013 जनवरीशाम 5:06
15 जनवरीरात्रि 11:22 17 जनवरीरात्रि 02:09
23 जनवरीप्रातः 11:1024 जनवरीप्रातः 10:18
24 जनवरीप्रातः 11:1625 जनवरीप्रातः 10:54
03 फरवरीशाम 4:3504 फरवरीदोपहर 3:57
05 फरवरीशाम 4:0906 फरवरीदोपहर 1:22
06 फरवरीशाम 5:1007 फरवरीशाम 6:58
10 फरवरीरात्रि 00:2412 फरवरीप्रातः 06:37
14 फरवरीप्रातः 11:5315 फरवरीदोपहर 1:48
22 फरवरीदोपहर 3:3723 फरवरीदोपहर 2:40
06 मार्चरात्रि 02:3007 मार्चरात्रि 3:50
08 मार्चप्रातः 05:5509 मार्चप्रातः 08:31
11 मार्चदोपहर 2:3613 मार्चरात्रि 8:05
15 मार्चरात्रि 11:3317 मार्चरात्रि 00:20
23 मार्चशाम 6:5324 मार्चशाम 5:29

•••••••••••••••••

 

Ravi Yog / रवि योग के बारे में यह artical यदि आपको पसंद आया हो, तो इसे like और दूसरों को share करें, ताकि यह जानकारी और लोगों तक भी पहुंच सके। आप Comment box में Comment जरुर करें। इस subject से जुड़े प्रश्न आप नीचे Comment section में पूछ सकते हैं।

Sarvarth Siddhi Muhurat | सर्वार्थ सिद्धि योग (सन् 2021-22)

shubh muhurat

Sarvarth siddhi yog muhurat

‘सर्वार्थ सिद्धि योग’ – नाम से ही एहसास हो जाता है कि यह सभी काम सिद्ध करने के योग के बारे में है। आज के समय में एक अच्छा मुहूर्त निकालना बड़ा ही दुसाध्य काम है। यदि सही समय पर सही विद्वान न मिले तो अर्थ का अनर्थ हो जाता है। जिसका बाद में खामियाजा भुगतना पड़ता है। लोक व्यवहार की बोलचाल में कहा भी गया है। :-

कि अच्छे समय में यदि कोई बुरा काम भी कर लेता है, तो भी व्यक्ति को वाहवाही मिल जाती है क्योंकि समय अच्छा है। पर यदि बुरे समय अर्थार्थ बुरे मुहूर्त में किया गया शुभ काम भी नुकसान दे जाता है। आप सबकी इन्हीं परेशानियों को ध्यान में रखते हुए यह मुहूर्त नाम से कॉलम बनाया गया है।

इस कॉलम में आपको इस साल के सभी शुभ मुहूर्त मिल जाएंगे। कई बार गुरु और शुक्र अस्त चल रहा हो तो उस समय में पंडित जन मुहूर्त बंद बताते हैं क्योंकि शास्त्रों में बताया गया है कि जब भी गुरु और शुक्र अस्त हो जाते हैं। तब सभी शुभ काम बंद हो जाते हैं।

संसार में ऐसे बहुत सारे काम होते हैं, जिन्हें करना अनिवार्य होता है और उनके लिए रुकना संभव नहीं हो पाता। इसीलिए शास्त्रों में इसका भी समाधान सर्वार्थ सिद्धि योग आदि मुहूर्तों के द्वारा किया जाता है।

यदि किसी काम को जल्दी करने की स्थिति में कोई आवश्यक मुहूर्त नहीं मिल पा रहा हो तो व्यक्ति आंख बंद करके सर्वार्थ सिद्धि आदि योगों में अपना काम आरंभ कर सकता है। इन मुहूर्तों में गुरु – शुक्र अस्त, पंचक, भद्रा आदि किसी भी चीज का विचार करने की आवश्यकता नहीं है। यह अपने आप में ही सिद्ध मुहूर्त होते हैं। जो सभी कुयोगों को समाप्त करने की शक्ति रखते हैं।

जैसे कि इनके नाम से ही स्पष्ट है। इन योगों के समय में कोई भी शुभ काम किया जाए तो वह सफल होता है। जैसे :- कहीं यात्रा पर जाना हो, गृह प्रवेश करना हो, कोई नया काम शुरू करना हो तो व्यक्ति इन मुहूर्तों में कर सकता है।

सर्वार्थ सिद्धि योग सन् 2021 – 2022

प्रारंभ काल – तारीखप्रारंभ काल – घं.मि.तारीख – समाप्ति कालसमाप्ति काल – घं.मि.
13 अप्रैलसूर्योदय से13 अप्रैलदोपहर 2:19
14 अप्रैलशाम 5:2315 अप्रैलसूर्योदय तक
23 अप्रैलप्रातः 07:4224 अप्रैलसूर्योदय तक
25 अप्रैलसूर्योदय से26 अप्रैलरात्रि 01:54
28 अप्रैलशाम 5:1329 अप्रैलसूर्योदय तक
29 अप्रैलसूर्योदय से29 अप्रैलदोपहर 2:29
02 मईप्रातः 09:0003 मईसूर्योदय तक
03 मईप्रातः 08:2304 मईसूर्योदय तक
09 मईशाम 5:2910 मईसूर्योदय तक
11 मईरात्रि 11:3213 मईसूर्योदय तक
17 मईदोपहर 1:2218 मईसूर्योदय तक
18 मईदोपहर 2:5619 मईसूर्योदय तक
21 मईसूर्योदय से21 मईदोपहर 3:22
23 मईसूर्योदय से23 मईदोपहर 12:12
26 मईसूर्योदय से27 मईरात्रि 01:15
30 मई सूर्योदय से30 मईशाम 4:41
31 मईसूर्योदय से31 मईशाम 4:01
04 जूनरात्रि 8:4805 जूनप्रातः 04:08
05 जूनप्रातः 04:0905 जूनसूर्योदय तक
06 जून सूर्योदय से07 जूनरात्रि 02:27
08 जूनप्रातः 05:3610 जूनसूर्योदय तक 
13 जूनशाम 7:0114 जूनरात्रि 8:36
15 जूनसूर्योदय से15 जूनरात्रि 9:42
23 जूनसूर्योदय से23 जूनप्रातः 11:48
27 जूनरात्रि 02:3727 जूनसूर्योदय तक
02 जुलाईरात्रि 03:5002 जुलाईसूर्योदय तक
02 जुलाईसूर्योदय से03 जुलाईसूर्योदय तक
04 जुलाईसूर्योदय से04 जुलाईप्रातः 09:05
06 जुलाईसूर्योदय से06 जुलाईदोपहर 3:20
07 जुलाईसूर्योदय से08 जुलाईसूर्योदय तक
09 जुलाईरात्रि 11:1510 जुलाईसूर्योदय तक
11 जुलाईसूर्योदय से12 जुलाईरात्रि 02:21
18 जुलाईरात्रि 01:3318 जुलाई सूर्योदय तक
19 जुलाईरात्रि 10:2820 जुलाईसूर्योदय तक
24 जुलाईदोपहर 12:4125 जुलाईसूर्योदय तक
29 जुलाईदोपहर 12:0330 जुलाई सूर्योदय तक
30 जुलाईसूर्योदय से30 जुलाईदोपहर 2:02
30 जुलाईदोपहर 2:0331 जुलाईसूर्योदय तक
02 अगस्तरात्रि 10:4403 अगस्तसूर्योदय तक
04 अगस्तसूर्योदय से05 अगस्तप्रातः 04:24
06 अगस्तप्रातः 06:3807 अगस्तसूर्योदय तक
08 अगस्तसूर्योदय से08 अगस्तप्रातः 09:19
14 अगस्तप्रातः 06:5715 अगस्तप्रातः 05:44
16 अगस्तसूर्योदय से17 अगस्तरात्रि 03:02
20 अगस्तरात्रि 9:2521 अगस्तरात्रि 8:21
24 अगस्तरात्रि 7:4825 अगस्तसूर्योदय तक
26 अगस्तसूर्योदय से28 अगस्तरात्रि 00:47
30 अगस्तप्रातः 06:3931 अगस्तसूर्योदय तक
01 सितंबरसूर्योदय से01 सितंबरदोपहर 12:34
02 सितंबरदोपहर 2:5803 सितंबरशाम 4:41
08 सितंबरदोपहर 3:5609 सितंबरसूर्योदय तक
11 सितंबरसूर्योदय से11 सितंबरप्रातः 11:22
13 सितंबरसूर्योदय से13 सितंबरप्रातः 08:23
17 सितंबरसूर्योदय से18 सितंबररात्रि 03:35
21 सितंबरसूर्योदय से22 सितंबरप्रातः 05:06
23 सितंबरसूर्योदय से24 सितंबरप्रातः 08:53
27 सितंबरसूर्योदय से27 सितंबरशाम 5:41
27 सितंबरशाम 5:4228 सितंबरसूर्योदय तक
30 सितंबरसूर्योदय से01 अक्टूबररात्रि 1:33
01 अक्टूबररात्रि 01:3401 अक्टूबरसूर्योदय तक
06 अक्टूबरसूर्योदय से06 अक्टूबररात्रि 11:19
15 अक्टूबरसूर्योदय से15 अक्टूबरप्रातः 09:16
19 अक्टूबरसूर्योदय से19 अक्टूबरदोपहर 12:12
21 अक्टूबरसूर्योदय से21 अक्टूबरशाम 4:16
23 अक्टूबररात्रि 9:5324 अक्टूबरसूर्योदय तक
25 अक्टूबरसूर्योदय से26 अक्टूबरप्रातः 04:10
28 अक्टूबरसूर्योदय से28 अक्टूबरप्रातः 09:41
28 अक्टूबरप्रातः 09:4229 अक्टूबरसूर्योदय तक
3 नवंबरसूर्योदय से03 नवंबरप्रातः 09:58
7 नवंबररात्रि 9:0508 नवंबरसूर्योदय तक
14 नवंबरशाम 4:3215 नवंबरसूर्योदय तक
16 नवंबररात्रि 8:1517 नवंबरसूर्योदय तक
20 नवंबरसूर्योदय से21 नवंबरसूर्योदय तक
22 नवंबरसूर्योदय से22 नवंबरप्रातः 10:43
25 नवंबरसूर्योदय से25 नवंबरशाम 6:49
28 नवंबररात्रि 10:0629 नवंबरसूर्योदय तक
05 दिसंबरप्रातः 07:4806 दिसंबरप्रातः 04:54
12 दिसंबरसूर्योदय से12 दिसंबररात्रि 11:59
14 दिसंबरसूर्योदय से15 दिसंबरप्रातः 04:40
18 दिसंबरसूर्योदय से18 दिसंबरदोपहर 1:48
25 दिसंबरप्रातः 04:1025 दिसंबरसूर्योदय तक
26 दिसंबरसूर्योदय से27 दिसंबरप्रातः 05:25
27 दिसंबरप्रातः 05:2627 दिसंबरसूर्योदय तक
31 दिसंबररात्रि 00:3531 दिसंबरसूर्योदय तक

2022

प्रारंभ काल – तारीखप्रारंभ काल – घं.मि.तारीख – समाप्ति कालसमाप्ति काल – घं.मि.
02 जनवरीसूर्योदय से02 जनवरीशाम 4:23
11 जनवरीसूर्योदय से11 जनवरीप्रातः 11:09
12 जनवरीदोपहर 2:0013 जनवरीसूर्योदय तक
18 जनवरीप्रातः 04:3818 जनवरीसूर्योदय तक
19 जनवरीप्रातः 06:4319 जनवरीसूर्योदय तक
21 जनवरीप्रातः 09:4322 जनवरीसूर्योदय तक
23 जनवरीसूर्योदय से23 जनवरीप्रातः 11:09
23 जनवरीप्रातः 11:1024 जनवरीसूर्योदय तक
27 जनवरीप्रातः 08:5228 जनवरीप्रातः 07:10
31 जनवरीरात्रि 00:2331 जनवरीसूर्योदय तक
31 जनवरीरात्रि 9:5801 फरवरीसूर्योदय तक
06 फरवरीशाम 5:1007 फरवरीसूर्योदय तक
08 फरवरी रात्रि 9:2810 फरवरीसूर्योदय तक
14 फरवरीप्रातः 11:5315 फरवरीसूर्योदय तक
15 फरवरीदोपहर 1:4916 फरवरीसूर्योदय तक
18 फरवरीसूर्योदय से18 फरवरीशाम 4:41
20 फरवरीसूर्योदय से20 फरवरीशाम 4:42
23 फरवरीदोपहर 2:4123 फरवरीशाम 4:57
23 फरवरीशाम 4:5824 फरवरीदोपहर 1:30
27 फरवरीप्रातः 08:4928 फरवरीसूर्योदय तक
28 फरवरीप्रातः 07:0301 मार्चप्रातः 05:19
05 मार्चरात्रि 1:5205 मार्चसूर्योदय तक
06 मार्चसूर्योदय से07 मार्चरात्रि 3:50
08 मार्चसूर्योदय से10 मार्चसूर्योदय तक
13 मार्चरात्रि 8:0614 मार्चरात्रि 10:07 
15 मार्चसूर्योदय से15 मार्चरात्रि 11:32
23 मार्चसूर्योदय से23 मार्चशाम 6:52
27 मार्चसूर्योदय से27 मार्चदोपहर 1:32
28 मार्चसूर्योदय से28 मार्चदोपहर 12:24
01 अप्रैलप्रातः 10:4002 अप्रैलसूर्योदय तक

Sarvaarth Siddhi Yog सर्वार्थ सिद्धि योग के बारे में यह artical यदि आपको पसंद आया हो, तो इसे like और दूसरों को share करें, ताकि यह जानकारी और लोगों तक भी पहुंच सके। आप Comment box में Comment जरुर करें। इस subject से जुड़े प्रश्न आप नीचे Comment section में पूछ सकते हैं।