Amrit Siddhi Muhurat | अमृत सिद्धि योग (सन् 2023-2024)

auspicious muhurat yoga

auspicious muhurat yoga

शास्त्रों में “अमृत सिद्धि योग” को अमृत के समान फल देने वाला कहा गया है। ध्यान रहे मंगलवार वाले अमृत सिद्धि योग के समय नए घर में प्रवेश करना तथा शनिवार वाले अमृत सिद्धि योग के समय यात्रा नहीं करनी चाहिए। बाकी सभी कामों के लिए निसंकोच आप इन्हें प्रयोग में ला सकते हैं।

अमृत सिद्धि योग सन 2022 

प्रारंभ काल – तारीखप्रारंभ काल – घं.मि.तारीख – समाप्ति कालसमाप्ति काल – घं.मि.
3 दिसंबरप्रातः 05:45 से3 दिसंबरसूर्योदय तक
18 दिसंबरसूर्योदय से18 दिसंबरसुबह 10:18 तक
21 दिसंबरसुबह 08:33 से22 दिसंबरप्रातः 06:33 तक
30 दिसंबरसुबह 11:24 से31 दिसंबरसूर्योदय तक
सन् 2023
प्रारंभ काल – तारीखप्रारंभ काल – घं.मि.तारीख – समाप्ति कालसमाप्ति काल – घं.मि.
18 जनवरीसूर्योदय से18 जनवरीशाम 05:22 तक
27 जनवरीसूर्योदय से27 जनवरीशाम 06:36 तक
27 मार्चशाम 05:29 से28 मार्च?सूर्योदय तक
30 मार्चरात्रि 11:31 से31 मार्चसूर्योदय तक
22 अप्रैलरात्रि 11:25 से 23 अप्रैलसूर्योदय तक
24 अप्रैलसूर्योदय से25 अप्रैलरात्रि 02:07 तक
27 अप्रैल सुबह 07:00 से28 अप्रैलसूर्योदय तक
20 मई सुबह 08:03 से 21 मई सूर्योदय तक
22 मई सूर्योदय से22 मई सुबह 10:36 तक
25 मई सूर्योदय से25 मई शाम 05:53
13 जूनदोपहर 01:33 से14 जूनसूर्योदय तक
17 जूनसूर्योदय से17 जूनशाम 04:25
11 जुलाईसूर्योदय से11 जुलाईरात्रि 07:04 तक
23 जुलाईशाम 07:48 से 24 जुलाईसूर्योदय तक
20 अगस्तसूर्योदय से21 अगस्तरात्रि 00:22 तक
17 सितंबरसूर्योदय से17 सितंबरसुबह 10:01 तक
20 सितंबरदोपहर 02:59 से21 सितंबरसूर्योदय तक
29 सितंबररात्रि 11:19 से30 सितंबरसूर्योदय तक
18 अक्टूबरसूर्योदय से18 अक्टूबररात्रि 09:00 तक
27 अक्टूबरसुबह 09:25 से28 अक्टूबरसूर्योदय तक
24 नवंबरसूर्योदय से24 नवंबरशाम 04:00 तक
25 दिसंबररात्रि 09:40 से26 दिसंबरसूर्योदय तक
29 दिसंबरसुबह 09:05 से29 दिसंबरसूर्योदय तक
सन् 2024
प्रारंभ काल – तारीखप्रारंभ काल – घं.मि.तारीख – समाप्ति कालसमाप्ति काल – घं.मि.
22 जनवरीसूर्योदय से23 जनवरीप्रातः 04:58 तक
25 जनवरीसुबह 08:17 से26 जनवरीसूर्योदय तक
17 फरवरी सुबह 08:47 से18 फरवरीसूर्योदय तक
19 फरवरीसूर्योदय से19 फरवरीसुबह 10:33 तक
22 फरवरीसूर्योदय से22 फरवरीशाम 04:46 तक
12 मार्चरात्रि 08:30 से13 मार्चसूर्योदय तक
16 मार्चसूर्योदय से16 मार्चशाम 04:05 तक

•••••••••••••••••

shubh muhurat, aaj ka choghadiya, shubh muhurat today, aaj ka shubh muhurat,

Amrit Siddhi Yoga / अमृत सिद्धि योग के बारे में यह artical यदि आपको पसंद आया हो, तो इसे like और दूसरों को share करें, ताकि यह जानकारी और लोगों तक भी पहुंच सके। आप Comment box में Comment जरुर करें। इस subject से जुड़े प्रश्न आप नीचे Comment section में पूछ सकते हैं।

Sarvarth Siddhi Muhurat | सर्वार्थ सिद्धि योग (सन् 2023-2024)

shubh muhurat
Sarvarth siddhi yog muhurat ‘सर्वार्थ सिद्धि योग’ – नाम से ही एहसास हो जाता है कि यह सभी काम सिद्ध करने के योग के बारे में है। आज के समय में एक अच्छा मुहूर्त निकालना बड़ा ही दुसाध्य काम है। यदि सही समय पर सही विद्वान न मिले तो अर्थ का अनर्थ हो जाता है। जिसका बाद में खामियाजा भुगतना पड़ता है। लोक व्यवहार की बोलचाल में कहा भी गया है। :- कि अच्छे समय में यदि कोई बुरा काम भी कर लेता है, तो भी व्यक्ति को वाहवाही मिल जाती है क्योंकि समय अच्छा है। पर यदि बुरे समय अर्थार्थ बुरे मुहूर्त में किया गया शुभ काम भी नुकसान दे जाता है। आप सबकी इन्हीं परेशानियों को ध्यान में रखते हुए यह मुहूर्त नाम से कॉलम बनाया गया है। इस कॉलम में आपको इस साल के सभी शुभ मुहूर्त मिल जाएंगे। कई बार गुरु और शुक्र अस्त चल रहा हो तो उस समय में पंडित जन मुहूर्त बंद बताते हैं क्योंकि शास्त्रों में बताया गया है कि जब भी गुरु और शुक्र अस्त हो जाते हैं। तब सभी शुभ काम बंद हो जाते हैं। संसार में ऐसे बहुत सारे काम होते हैं, जिन्हें करना अनिवार्य होता है और उनके लिए रुकना संभव नहीं हो पाता। इसीलिए शास्त्रों में इसका भी समाधान सर्वार्थ सिद्धि योग आदि मुहूर्तों के द्वारा किया जाता है। यदि किसी काम को जल्दी करने की स्थिति में कोई आवश्यक मुहूर्त नहीं मिल पा रहा हो तो व्यक्ति आंख बंद करके सर्वार्थ सिद्धि आदि योगों में अपना काम आरंभ कर सकता है। इन मुहूर्तों में गुरु – शुक्र अस्त, पंचक, भद्रा आदि किसी भी चीज का विचार करने की आवश्यकता नहीं है। यह अपने आप में ही सिद्ध मुहूर्त होते हैं। जो सभी कुयोगों को समाप्त करने की शक्ति रखते हैं। जैसे कि इनके नाम से ही स्पष्ट है। इन योगों के समय में कोई भी शुभ काम किया जाए तो वह सफल होता है। जैसे :- कहीं यात्रा पर जाना हो, गृह प्रवेश करना हो, कोई नया काम शुरू करना हो तो व्यक्ति इन मुहूर्तों में कर सकता है।

सर्वार्थ सिद्धि योग सन् 2022

प्रारंभ काल – तारीख प्रारंभ काल – घं.मि. तारीख – समाप्ति काल समाप्ति काल – घं.मि.
3 दिसंबर प्रातः 05:45 से 3 दिसंबर सूर्योदय तक
4 दिसंबर सूर्योदय से 5 दिसंबर सूर्योदय तक
6 दिसंबर सुबह 08:38 से 8 दिसंबर सूर्योदय तक
11 दिसंबर रात्रि 08:36  से 12 दिसंबर रात्रि 11:35 तक
13 दिसंबर सूर्योदय से 14 दिसंबर रात्रि 02:32 तक
16 दिसंबर सूर्योदय से 16 दिसंबर सुबह 07:34 तक
18 दिसंबर सूर्योदय से 18 दिसंबर सुबह 10:18 तक
21 दिसंबर सुबह 08:33 से 22 दिसंबर प्रातः 06:33 तक
25 दिसंबर सूर्योदय से 25 दिसंबर शाम 07:21 तक
26 दिसंबर सूर्योदय से 26 दिसंबर शाम 04:41 तक
30 दिसंबर सुबह 11:24 से 31 दिसंबर सूर्योदय तक
सन् 2023
1 जनवरी सूर्योदय से 1 जनवरी दोपहर 12:48 तक
3 जनवरी सूर्योदय से 3 जनवरी शाम 04:25 तक
4 जनवरी सूर्योदय से 5 जनवरी सूर्योदय तक
6 जनवरी रात्रि 00:13 से 7 जनवरी सूर्योदय तक
8 जनवरी सूर्योदय से 9 जनवरी प्रातः 06:05 तक
10 जनवरी सूर्योदय से 10 जनवरी सुबह 09:01 तक
18 जनवरी सूर्योदय से 18 जनवरी शाम 05:22 तक
22 जनवरी प्रातः 06:30 से 22 जनवरी सूर्योदय तक
26 जनवरी शाम 06:56 से 28 जनवरी सूर्योदय तक
30 जनवरी रात्रि 10:15 से 31 जनवरी सूर्योदय तक
1 फरवरी सूर्योदय से 2 फरवरी रात्रि 03:23 तक
3 फरवरी सुबह 06:18 से 4 फरवरी सूर्योदय तक
5 फरवरी सूर्योदय से 5 फरवरी दोपहर 12:12 तक
12 फरवरी रात्रि 01:39 से 12 फरवरी सूर्योदय तक
14  फरवरी रात्रि 02:35 से 14 फरवरी सूर्योदय तक
18 फरवरी शाम 05:42 से 19 फरवरी सूर्योदय तक
22 फरवरी सुबह 06:38 से 22 फरवरी सूर्योदय तक
23 फरवरी सूर्योदय से 25 फरवरी रात्रि 03:23 तक
27 फरवरी सूर्योदय से 28 फरवरी सूर्योदय तक
1 मार्च सूर्योदय से 1 मार्च सुबह 09:51 तक
2 मार्च दोपहर 12:43 से 3 मार्च दोपहर 03:43 तक
9 मार्च प्रातः 04:19 से 9 मार्च सूर्योदय तक
11 मार्च सुबह 07:10 से 12 मार्च सूर्योदय तक
13 मार्च सुबह 08:21 से 14 मार्च सुबह 08:12 तक
18 मार्च रात्रि 02:46 से 19 मार्च रात्रि 00:29 तक
21 मार्च शाम 05:25 से 24 मार्च दोपहर 01:22 तक
27 मार्च सूर्योदय से 28 मार्च सूर्योदय तक
30 मार्च सूर्योदय से 31 मार्च सूर्योदय तक
5 अप्रैल सुबह 11:23 से 6 अप्रैल सूर्योदय तक
8 अप्रैल सूर्योदय से 8 अप्रैल दोपहर 01:58 तक
10 अप्रैल सूर्योदय से 10 अप्रैल दोपहर 01:39 तक
14 अप्रैल   सुबह 09:15 से 15 अप्रैल सुबह 07 :35 तक
18 अप्रैल सूर्योदय से 19 अप्रैल सुबह 09:09 तक
20 अप्रैल सूर्योदय से 20 अप्रैल रात्रि 11:10 तक
( 22 अप्रैल रात्रि 11:25 से 23 अप्रैल सूर्योदय तक ) शनिवार
( 24 अप्रैल सूर्योदय से 25 अप्रैल रात्रि 02:07 तक
27 अप्रैल सूर्योदय से 27 अप्रैल प्रातः 06:59 तक
( 27 अप्रैल सुबह 07:00 से 28 अप्रैल सूर्योदय तक ) सोमवार
  3 मई सूर्योदय से 3 मई रात्रि 08:56 तक
12 मई सूर्योदय से 12 मई दोपहर 01:03 तक
16 मई सूर्योदय से 16 मई सुबह 08:14 तक
18 मई सूर्योदय से   18 मई सुबह 07:22 तक
( 20 मई सुबह 08:03 से 21 मई सूर्योदय तक ) शनिवार
( 22 मई सूर्योदय से 22 मई सुबह 10: 36 तक) सोमवार
( 25 मई सूर्योदय से 25 मई शाम 05:53 तक) गुरुवार
29 मई रात्रि 02:21 से 29 मई सूर्योदय तक
31 मई सूर्योदय से 31 मई प्रातः 06:00 तक
05 जून रात्रि 03:23 से 05 जून सूर्योदय तक
11 जून दोपहर 01:32 से 12 जून सूर्योदय तक
( 13 जून दोपहर 01:33 से 14 जून सूर्योदय तक) मंगलवार
(17 जून सूर्योदय से 17 जून शाम 04:25 तक) शनिवार
25 जून सुबह 10:12 से 26 जून सूर्योदय तक
30 जून शाम 04:10 से 1 जुलाई सूर्योदय तक
2 जुलाई दोपहर 01:18 से 3 जुलाई सूर्योदय तक
9 जुलाई सूर्योदय से 9 जुलाई रात्रि 07:29 तक
( 11 जुलाई सूर्योदय से 11 जुलाई रात्रि 07:04 तक) मंगलवार
12 जुलाई रात्रि 07:44 से 13 जुलाई सूर्योदय तक
18 जुलाई प्रातः 05:11 से 18 जुलाई सूर्योदय तक
21 जुलाई दोपहर 01:58 से 22 जुलाई सूर्योदय तक
23 जुलाई सूर्योदय से 23 जुलाई रात्रि 07: 47 तक
( 20 सितंबर दोपहर 02: से 21 सितंबर सूर्योदय तक) बुधवार
24 सितंबर दोपहर 01:42 से 25 सितंबर सूर्योदय तक
25 सितंबर सुबह 11:55 से 26  सितंबर सूर्योदय तक
( 29 सितंबर रात्रि 11:19 से 30 सितंबर  सूर्योदय तक ) शुक्रवार
01 अक्टूबर सूर्योदय से 01 अक्टूबर रात्रि 07:27 तक
03 अक्टूबर सूर्योदय से 03 अक्टूबर रात्रि 06:03 तक
04 अक्टूबर सूर्योदय से 04 अक्टूबर रात्रि 06:19 तक
06 अक्टूबर रात्रि 07:32 से 07 अक्टूबर सूर्योदय तक
08 अक्टूबर सूर्योदय से 09 अक्टूबर रात्रि 02:44 तक
( 18 अक्टूबर सूर्योदय से 18 अक्टूबर रात्रि 09:00 तक) बुधवार    
22 अक्टूबर सूर्योदय से 22 अक्टूबर रात्रि 06:44 तक
23 अक्टूबर सूर्योदय से 23 अक्टूबर शाम 05:14 तक
( 27 अक्टूबर सुबह 09:25 से 28 अक्टूबर सूर्योदय तक) शुक्रवार
31 अक्टूबर प्रातः 04:01 से 31 अक्टूबर सूर्योदय तक
01 नवंबर सूर्योदय से 02 नवंबर  प्रातः 04:36 तक
03 नवंबर प्रातः 05:58 से 04 नवंबर सूर्योदय तक
05 नवंबर सूर्योदय से 05 नवंबर सुबह 10:12 तक
12 नवंबर रात्रि 01:47 से 12 नवंबर सूर्योदय तक
14 नवंबर रात्रि 03:23 से 14 नवंबर सूर्योदय तक
19 नवंबर रात्रि 12:23से 19 नवंबर सूर्योदय तक
23 नवंबर शाम 05:17 से 24 नवंबर सूर्योदय तक
( 24 नवंबर सूर्योदय से 24 नवंबर शाम 04:00 तक) शुक्रवार
27 नवंबर दोपहर 01:36  से 28 नवंबर सूर्योदय तक
30 नवंबर दोपहर 03:02 से 01 दिसंबर शाम 04:40 तक
07 दिसंबर प्रातः 06:29 से 07 दिसंबर सूर्योदय तक
09 दिसंबर सुबह 10:44 से 10 दिसंबर सूर्योदय तक
11 दिसंबर दोपहर 12:14 से 12 दिसंबर सूर्योदय तक
16 दिसंबर प्रातः 06:25 से 17 दिसंबर प्रातः 04:37 तक
20 दिसंबर रात्रि 00:03 से 20 दिसंबर सूर्योदय तक
21 दिसंबर सूर्योदय से 22 दिसंबर रात्रि 10:35 तक
25 दिसंबर सूर्योदय से 25 दिसंबर रात्रि 10:39 तक
( 25 दिसंबर रात्रि  10:40 से 26 दिसंबर सूर्योदय तक) सोमवार  
28 दिसंबर सूर्योदय से 29 दिसंबर रात्रि 01:04 तक
( 29 दिसंबर रात्रि 01:05 से 29 दिसंबर सूर्योदय तक)गुरुवार
सन् 2024
प्रारंभ काल – तारीख प्रारंभ काल – घं.मि. तारीख – समाप्ति काल समाप्ति काल – घं.मि.
13 फरवरी सूर्योदय से 13 फरवरी दोपहर 12:35 तक
15 फरवरी सूर्योदय से 15 फरवरी सुबह 09:26 तक
( 17  फरवरी सुबह 08:47 से 18 फरवरी सूर्योदय तक) शनिवार
( 19 फरवरी सूर्योदय से 19 फरवरी सुबह 10:33 तक
( 22 फरवरी सूर्योदय से 22 फरवरी शाम 04:43 तक) गुरुवार
26 फरवरी रात्रि 01:25 से 26 फरवरी सूर्योदय तक
28 फरवरी सूर्योदय से 28 फरवरी सुबह 07:33 तक
08 मार्च सूर्योदय से 08 मार्च सुबह 10:41 तक
11 मार्च रात्रि 01:56 से 11 मार्च सूर्योदय तक
( 12 मार्च रात्रि 08:30 से 13 मार्च सूर्योदय तक) मंगलवार
( 16 मार्च सूर्योदय से 16 मार्च शाम 04:05 तक) शनिवार
23 मार्च प्रातः 04:28 से 23 मार्च सूर्योदय तक
24 मार्च सुबह 07:34 से 24 मार्च सूर्योदय तक
31 मार्च रात्रि  10:57 से 01 अप्रैल सूर्योदय तक
07 अप्रैल दोपहर 12:59 से 08 अप्रैल सूर्योदय तक
Sarvaarth Siddhi Yog सर्वार्थ सिद्धि योग के बारे में यह artical यदि आपको पसंद आया हो, तो इसे like और दूसरों को share करें, ताकि यह जानकारी और लोगों तक भी पहुंच सके। आप Comment box में Comment जरुर करें। इस subject से जुड़े प्रश्न आप नीचे Comment section में पूछ सकते हैं।