धनतेरस खीरदारी व पूजन का समय | Dhanteras Puja Muhurat 2019

खरीदारी और पूजन का समय

सज्जनों वैसे तो शास्त्रों के अनुसार धनत्रयोदशी उदय व्यापिनी अर्थात जिस दिन सूर्योदय के समय त्रयोदशी होती है, उस दिन मानी जाती है। परंतु इस साल 25 अक्टूबर 2019 को त्रयोदशी तिथि (dhanteras) का आरंभ  शाम 7:08 बजे हो रहा है; जो अगले दिन 26 अक्टूबर शनिवार को दोपहर 3:47 पर समाप्त होगा। 25 अक्टूबर 2019 को प्रदोष काल शाम 5:42 से रात 8:15 तक रहेगा। शाम 6 बजकर 50 मिनट से रात 8 बजकर 45 मिनट तक वृषभ लग्न रहेगा। अच्छे समय में खरीदारी उत्तम मानी गई है। धनतेरस (dhanteras) की पूजा के लिए 25 अक्टूबर 2019 को सबसे उत्तम समय शाम 7:08 से 8:15 तक है। क्योंकि इस दौरान स्थिर लग्न वृष होगा। प्रदोष काल और त्रयोदशी तिथि (dhanteras) भी रहेगी। धनतेरस (dhanteras) पर सोना, चांदी और स्थायी संपत्ति की खरीदारी के लिए भी यह समय सबसे उत्तम है।

विशेष : – शास्त्रों के अनुसार जो लोग उदय व्यापिनी धनत्रयोदशी में पूजा करना चाहते हैं। वह 26 अक्टूबर 2019 को भी सूर्योदय के बाद भगवान धन्वंतरी जी की पूजा तथा खरीदारी आदि कर सकते हैं।

•••••••••••••••••

धनतेरस के बारे में यह Article आपको पसंद आया हो, तो इसे like और दूसरों को share करें, ताकि यह जानकारी और लोगों तक भी पहुंच सके। आप Comment box में Comment जरुर करें। इस subject से जुड़े प्रश्न आप नीचे Comment section में पूछ सकते हैं।

No comment yet, add your voice below!


Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *